आपदा में अवसर – बैतूल में प्राइवेट हॉस्पिटल की कालाबाजारी,रेमडेसिविर इंजेक्शन के वसूले जा रहे मनमाने दाम

बैतूल मीडिया || जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार करने के लिए निजी अस्पतालों में मनमाने दाम वसूलने का एक मामला सामने आया है। मरीज को रेडक्रास सोसायटी के माध्यम से प्रदान किए गए रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाने के बाद 6 हजार रुपये प्रति इंजेक्शन का बिल थमा दिया गया।

परिजनों ने इस मामले की शिकायत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को ट्वीट के माध्यम से करते हुए कार्रवाई की मांग की है। हालांकि पूरे मामले में निजी अस्पताल के संचालक का कहना है कि बिल बनाते वक्त यह त्रुटि हो गई है। परिजनों को राशि वापस कर दी जाएगी। कोरोना संक्रमितों से रेमडेसिविर इंजेक्शन के मनमाने दाम वसूलने का मामला इंटरनेट मीडिया पर भी खूब वायरल हो रहा है।

भैंसदेही क्षेत्र के रमेश यादव ने बताया कि उनकी बहन को कोरोना संक्रमित होने पर गंज के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रेमडेसिविर इंजेक्शन की आवश्यकता होने पर अस्पताल के पत्र पर रेडक्रास सोसायटी से 4 इंजेक्शन लाए गए और जब रसीद देखी तो वह 7 इंजेक्शन की पाई गई।

मरीज के स्वस्थ होने पर 30 अप्रैल को अस्पताल से जो बिल दिया गया उसमें 4 रेमडेसिविर इंजेक्शन के 24 हजार रुपये लिखे हुए थे। अस्पताल प्रबंधन ने 3 हजार रुपये कम होने पर 4 घंटे तक मरीज की छुट्टी नहीं होने दी। जब बिल का पूरा भुगतान किया गया तब छुट्टी दी गई। रमेश ने बताया कि कोरोना संक्रमण के दौर में किसी अन्य के साथ ऐसी लूट न हो सके इसके लिए इंटरनेट मीडिया पर बिल और रेडक्रास सोसायटी की रसीद वायरल की गई है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री को भी ट्वीट कर शिकायत की ।

4 इंजेक्शन के मरीज़ से 24000 से अधिक की राशि वसूलने का मामला पूरे दिन जब सोशल मीडिया में सुर्खियां बटोर रहा था तब अनुविभागीय अधिकारी बैतूल सीएल चनाप और CMHO डॉ ए के तिवारी ने शाम को लश्करे चिकित्सालय में अचानक छापा मारा। दोनों अधिकारियों ने ग्रामीण अंचल की महिला मरीज के बारे में डॉ मनीष लश्करे से पूरी जानकारी ली ।

अधिकारियों ने महिला मरीज डिस्चार्ज हो अन्य बीलों की चेकिंग की तो वास्तविकता सामने आएगी 1568 रुपए में मिलने वाले रेमेडिसिवर इंजेक्शन ₹6000 में मरीज को दिया गया। कुल 4 इंजेक्शन 24 हजार से अधिक कीमत लेकर दिए गए।

SDM श्री चनाप ने डॉक्टर को जमकर फटकार लगाई और लिए गए 24000 से अधिक रुपए मरीज को वापस दिलवाये। इसके साथ ही चेतावनी दी गई कि यदि दोबारा इस तरह की शिकायत आएगी तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

बहुचर्चित खबरे